Chhattisgarh tourism

  • tribal art : छत्तीसगढ़ की कला पहुंची दुबई, ट्राईबल कला से विदेशों में बढ़ा मान…

    tribal development : प्रदेश में कला (tribal art) और संस्कृति (tribal culture) की विरासत को सहेजने का काम आदिवासियों द्वारा उनके क्षेत्र में किया जाता है। आदिवासी कलाकृतियों की छाप तो पूरे विश्व में है पर अब छत्तीसगढ़ के कलाकृतियों का लोहा दुनिया मान रही है। इसी का एक उदाहरण है कोंडागांव जहॉ की  पंखुड़ी सेवा समिति की महिलाओं ने…

    Read More »
  • छत्तीसगढ़ का प्राचीन इतिहास: chhattisgarh ancient history – पुरातात्विक स्थल में 2500 साल पुराने मानव बस्ती के अवशेष

     आभूषण, गणेश, और लज्जा देवी की प्रस्तर मूर्ति, सोना, चांदी व तांबे के सिक्के भी मिले संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग द्वारा छत्तीसगढ़ के पुरातात्विक स्थल में उत्खन्न के दौरान रायपुर जिले के आरंग के ग्राम रीवा (Riva) और दुर्ग, पाटन तरीघाट (Tarighat) में 2500 साल पुराने मानव बस्ती के अवशेष मिले हैं।  छत्तीसगढ़ की विशेषताएं –  पुरातात्विक स्थल की खुदाई…

    Read More »
  • Chhattisgarh Temple : राजिम माघी पुन्नी मेला – तीन नदियों का है संगम…..

      छत्तीसगढ़ पर्यटन– माघी पुन्नी मेला क्यों आयोजित किया जाता है? राजिम को छत्तीसगढ़ का प्रयाग कहलाने वाले राजिम माघी पुन्नी मेला  (Rajim kumbh) का आयोजन प्रत्येक वर्ष फरवरी माह में किया जाता है।   Chhattisgarh Tourist Place – छत्तीसगढ़ के प्रयाग में आते हैं देश-विदेश से साधु-संत छत्तीसगढ़ का प्रयाग कहा जाने वाले राजिम का माघी पुन्नी मेला हर…

    Read More »
  • Places to Visit in Raipur – रायपुर शहर की घूमना होगा रोचक

    Places to Visit in Raipur  – छत्तीसगढ़ राज्य में स्थित रायपुर की सबसे अच्छी जगह कौनसी है? रायपुर की अन्य जरूरी और रोचक जानकारीयों के साथ और साथ ही पर्दा उठाएंगे भारत के पांच में से, जिसके बारे में आपने शायद सुना भी नहीं होगा। यहॉ हम आपको बतायेंगे ऐसे रायपुर के घूमने वाले स्थानों के बारे में जहॉ जाकर…

    Read More »
  • छत्तीसगढ़ पर्यटन : चंपारण्य में जानिये कैसे होती है पर्यावरण की देखभाल ? champaran temple in Chhattisgarh

    चंपारण्य कहॉ है, चंपारण (cg tourism) के बारे में जानने के लिये उसका नाम क्यों पड़ा यह भी जानना जरूरी है तो दोस्तों आपको बता दें कि ऐसा कहा जाता है कि कभी यहां चंपा फू ल के वन की भरमार थी। इसीलिए इसका नाम चंपारण्य तथा चांपाझर पड़ा।  Champaran chhattisgarh-चंपारण में नहीं होती है होलिका दहन…. पर्यावरण की देखभाल– चंपारण…

    Read More »
  • Chhattisgarh Food : छत्तीसगढ़ के खान-पान का स्वाद

    chhattisgarhi dish, Khurma Chhattisgarh food,

    Read More »
  • chhattisgarh kaha hai: छत्तीसगढ़ के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य जानिये

    chhattisgarh kaha hai : छत्तीसगढ़ का वास्तविक मतलब होता है छत्तीस किले, किले को गढ़ भी कहते है, पहले यहाँ पर ३६ किले ही थे, छत्तीसगढ़ क्षेत्रफल में १०वे नम्बर पर है और इसका क्षेत्रफल १३५१९४ वर्ग किलोमीटर है, छत्तीसगढ़ का वर्तमान स्वरुप १ नवम्बर २००० में बना है। 45 प्रतिशत वनों से अच्छादित छत्तीसगढ़ की राजधानी “नई रायपुर” है …

    Read More »
  • छत्तीसगढ़ का इतिहास: 2000 साल पुराने व्यापारिक केन्द्र

    tarighat durg chhattisgarh india – छत्तीसगढ़ का इतिहास  (History of Chhattisgarh ) लगभग 2 हजार साल पुराना है। पूर्व में छत्तीसगढ़ बड़ा व्यापारिक केंद्र था और यहां सुदृढ़ प्रशासनिक व्यवस्था प्रचलित थी। वर्तमान में इसी इतिहास को आगे लेकर चलने की आवश्यकता और पुरखों की पद्धति को आगे बढ़ाने की जरूरत है।    Tarighat : मोहन जोदोडो की सभ्यता के…

    Read More »
  • छत्तीसगढ़ का सबसे बड़ा जल प्रपात कौन सा है? जानिये यहॉ

     इस पोस्ट में आपको छत्तीसगढ़ का सबसे बड़ा जल प्रपात कौन सा है इस प्रश्न का जवाब भी मिल जायेगा, साथ ही छत्तीसगढ़ के जलप्रपात में सभी जल प्रपात की अपनी-अपनी खासियत है परंतु हम आपको यहॉ छत्तीसगढ़ के कुछ ऐसे जल प्रपात के बारे में बता रहे हैं जो अपनी खासियत रखते हैं। यह छत्तीसगढ़ पयर्टन को नया रूप…

    Read More »
Back to top button