Religion

ayodhya ram mandir facts : अयोध्या श्रीरामलला मंदिर की विशेष बात

ayodhya ram mandir facts : अयोध्या में श्रीरामलला मंदिर (ayodhya dham mandir )का निर्माण शुरू होने जा रहा है, जिसका गर्भगृह 22 जनवरी को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के साथ होगा। इस अद्वितीय क्षण को मनाने के लिए, 16 जनवरी से ही अयोध्या धाम में एक विशेष कार्यक्रम शुरू हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा के बाद मंदिर आम भक्तों के लिए खोला। लेख में जाने राम मंदिर से जुड़ी खास बाते –

Ram मंदिर का निर्माण और रूपरेखा:

  • ayodhya ram mandir का निर्माण परंपरागत नागर शैली में हो रहा है।
  • लंबाई (पूर्व से पश्चिम) 380 फीट, चौड़ाई 250 फीट, ऊचाई 161 फीट होगी।
  • मंदिर तीन मंजिला होगा, प्रत्येक मंजिल की ऊंचाई 20 फीट।
  • मंदिर में कुल 392 खंभे और 44 द्वार होंगे।
  • प्रमुख गर्भगृह में श्रीराम का बालरूप, पहले तल पर श्रीराम दरबार होगा।
  • मंदिर में 5 मंडप होंगे: नृत्य, रंग, सभा, प्रार्थना, और कीर्तन मंडप।

देवी-देवता की मूर्तियां और अन्य सुंदर विवरण:

  • मंदिर की खंभों और दीवारों में देवी-देवता और देवांगनाएं उकेरी जा रही हैं।
  • 32 सीढ़ियां पूर्व दिशा से मंदिर में प्रवेश के लिए होंगी, सिंहद्वार से।
  • दिव्यांगजनों और वृद्धों के लिए मंदिर में रैम्प और लिफ्ट होगी।

परिसर का अन्य आकर्षण:

  • सीताकूप, सीताजी के नाम पर एक पौराणिक कुंज।
  • अन्य मंदिरों में वाल्मीकि, वशिष्ठ, विश्वामित्र, अगस्त्य, निषादराज, शबरी, और अहिल्या को समर्पित होंगे।
  • नवरत्न कुबेर टीला पर भगवान शिव का प्राचीन मंदिर और जटायु प्रतिमा।

पर्यावरण और सुरक्षा:

  • मंदिर के नीचे 14 मीटर मोटी रोलर कॉम्पेक्टेड कंक्रीट बिछाई गई है।
  • 21 फीट ऊंची प्लिंथ ग्रेनाइट से बनाई गई है, धरती की नमी से बचाने के लिए।
  • 70 एकड़ क्षेत्र में 70% क्षेत्र हरित रहेगा।
  • स्वतंत्र सीवर ट्रीटमेंट प्लांट, वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट, और स्वतंत्र पॉवर स्टेशन का निर्माण होगा।

Read – Shri Vallabhacharya- वल्लभाचार्य कहाँ रहते थे? जब माता-पिता चले गये…..

दर्शनार्थी सुविधाएं:

  • 25,000 क्षमता वाला दर्शनार्थी सुविधा केंद्र जहां दर्शनार्थियों के सामान के लिए लॉकर और चिकित्सा सुविधा होगी।
  • मंदिर परिसर में स्नानागार, शौचालय, वॉश बेसिन, ओपन टैप्स, आदि की सुविधा भी होगी।

निष्कर्ष:

श्रीरामलला मंदिर का निर्माण भारतीय परंपराओं और स्वदेशी तकनीक के साथ किया जा रहा है, जिसमें पर्यावरण और सुरक्षा का विशेष ध्यान दिया गया है। यह एक श्रद्धापूर्ण और सांस्कृतिक दृष्टिकोण से समृद्धि का सन्देश है, जो भक्तों को सुखद और पवित्र अनुभव प्रदान करेगा। ayodhya ram mandir facts अयोध्या के श्रीराम मंदिर से जुड़ी ये बातें आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके बताईये और हमारे वेबसाइट से जुड़े रहिये ताकि आपको ऐसे ही जानकारियां मिलती रहेंगी।

Read – bageshwar dham : शक्ति के रहस्य पर बोले बागेश्वर बाबा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button