India

Ramsetu Bridge : रामसेतु से जुड़े रिसर्च

श्री राम सेतु : बात इतिहास और वर्तमान की...

भारत और श्रीलंका के बीच रामसेतु (rama setu bridge) दुनियाभर में एडम्स ब्रिज (ram setu meaning in english) (ram setu adam’s bridge ) के नाम से जाना जाता है। दक्षिणपूर्व में रामेश्वरम और श्रीलंका के पूर्वोत्तर में ( ram setu location ) मन्नार द्वीप के बीच स्थित रामसेतु देश में आस्था का प्रतीक श्री राम (shri ram setu) और रामायण का एक हिस्सा है जो ऐतिहासिक है। हम यहॉ पर बात करेंगे कि कैसे रामसेतु पर अमेरिकी वैज्ञानिकों ने रिसर्च किया था ।

18 हजार साल पुराना 56 कि.मी. लंबा रामसेतु

स्पेस डिपार्टमेंट मिनिस्टर ने बताया कि रामसेतु (ram setu pul) का इतिहास 18 हजार साल पुराना होने के कारण शोध में सीमा है और ( ram setu length and width ) रामसेतु करीब 56 किलोमीटर तक लंबा था। ram setu real : रामसेतु के पौरणिक ऐतिहासिक जगहों की सैटेलाइट तस्वीरें ( satellite image of ram setu) ली गई जिसमें आइलैंड और चूना पत्थर दिखाई दियें कुछ हद तक तकनीकी माध्यम से रामसेतु के टुकड़े, आइलैंड और एक तरह के लाइम स्टोन के ढेर की पहचान हुई। चूना पत्थर को लेकर कोई दावा नहीं किया गया है कि यह रामसेतु से जुड़े हैं या नहीं।

राम सेतु पुल : रामसेतु के बारे में जानिए

shree ram setu : कहा जाता है कि 15 शताब्दी तक इस ढांचे पर चलकर रामेश्वरम से मन्नार द्वीप तक जाया जा सकता था, लेकिन तूफनों ने यहां समुद्र को कुछ गहरा कर दिया जिसके बाद यह पुल समुद्र में डूब गया. ( Nasa ram setu )1993 में नासा ने इस रामसेतु की सैटेलाइट तस्वीरें जारी की थीं जिसमें इसे मानव निर्मित पुल बताया गया था।

क्या है रामसेतु का सच

रामसेतु क्या काल्पनिक है या रामसेतु की सच्चाई क्या है?

भारत देश जिसकी सनातन परंपरा का पूरे विश्व में प्रभाव रहा है ऐसे देश में श्रीराम जैसे युग पुरूष हुए हैं। रामसेतु को अमेरिका के साईंस रिसर्च की मुहर लग चुकी है हालांकि रामसेतु को किसी प्रमाण की आवश्यक्ता नहीं है परंतु फिर भी आज के समय में सवाल उठाने वालों को जवाब ढूंढना भी पड़ता है। ऐसा ही रामसेतु के संबंध में भी हुआ है।

मानवनिर्मित है राम सेतु : अमेरिकी वैज्ञानिक

ram setu scientific facts in hindi : अमेरिकी वैज्ञानिकों की रिसर्च सामने आई थी जिसमें बताया गया था कि एक अरामेश्वरम के पम्बन द्वीप से श्रीलंका के मन्नार द्वीप के बीच 50 किलोमीटर लंबी श्रृंखला मानव निर्मित है यानी रामसेतु पर सवाल उठाने वालों को जवाब मिल गया है। वैसे अमेरिकी वैज्ञानिकों ने राम सेतु (ram setu full) को एडम्स ब्रिज कहा है।
बता दें कि इस टीवी शो को अमेरिका में प्रसारित किया गया है जिसका नाम ऐन्सिएंट लैंड ब्रिज (Adam’s Bridge)है और यह अमेरिका में एक साइंस चैनल पर किया था।

ramsetu bridge : रामसेतु हजारों साल पुरानी प्राचीन ऐतिहासिक सच है जिसका शोध करने में कई परेशानियां आ रही है जैसे भौगोलिक स्थिति में बदलाव हो चुका है। इसीलिये हम कहेंगे कि रामसेतु का प्रमाण खोजना है तो इतिहास को खंगाले रामायण काल (ram setu in ramayan ) में जो रामसेतु था वह ऐतिहासिक है।

agriculture india : पूर्वोत्तर ने कृषि क्षेत्र में वो कर दिखाया जो 6 साल पहले संभव न था

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button