India

viksit bharat sankalp yatra : विकसित भारत संकल्प यात्रा क्या है जानें

विकसित भारत संकल्प यात्रा क्या है जानें – प्रधानमंत्री ने 15 नवंबर को झारखंड के खूंटी से पूरे देश में केंद्र सरकार की योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए विकसित भारत संकल्प यात्रा शुरू की थी। इस यात्रा के तहत, ग्राम पंचायतों में आईईसी वैन के रुकने के स्थानों पर स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन किया जा रहा है।

viksit bharat sankalp yatra 26 नवंबर 2023 तक, 995 ग्राम पंचायतों में 5,470 स्वास्थ्य शिविर आयोजित किए जा चुके हैं, जिनमें 7,82,000 से अधिक लोगों की उपस्थिति दर्ज की गई।

स्वास्थ्य शिविरों में की जा रही गतिविधियों की सूची निम्नलिखित है:

  • आयुष्मान भारत – प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (एबी-पीएमजेएवाई): विकसित भारत संकल्प यात्रा के अंतर्गत, आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए एमओएचएफडब्‍ल्‍यू का प्रमुख योजना है। इससे 9,35,970 से अधिक आयुष्मान कार्ड बने और 1,07,000 से अधिक भौतिक कार्ड वितरित किए गए हैं।
  • क्षय रोग (टीबी): टीबी रोगियों की जांच एनएएटी मशीनों के साथ की जा रही है, और यदि रोग का संदेह होता है तो उन्हें उच्च सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए रेफर किया जाता है। 1,95,000 से अधिक लोगों की जांच हो चुकी है, जिनमें से 19,500 से अधिक लोगों को उच्च सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए भेजा गया है।
  • प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान (पीएमटीबीएमए): टीबी से प्रभावित लोगों को निक्षय मित्रों से सहायता प्राप्त करने के लिए सहमति ली जा रही है। इसके तहत 11,500 से अधिक रोगियों ने सहमति दी और 5,500 से अधिक नए निक्षय मित्र पंजीकृत किए गए हैं।
  • निक्षय पोषण योजना (एनपीवाई): टीबी रोगियों को मौद्रिक सहायता प्रदान की जा रही है, जिसके लिए उनके बैंक खाते का विवरण लिया जा रहा है और उनके खातों को आधार से जोड़ा जा रहा है। इस योजना के तहत 3,371 लाभार्थियों का विवरण एकत्र किया गया है।
  • सिकल सेल रोग: एससीडी की जांच के लिए पात्र आबादी की जांच हो रही है, जिनमें से 2,930 लोगों में रोग के लक्षण पाए गए हैं और उन्हें उच्च सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं में भेजा गया है।
  • गैर संचारी रोग (एनसीडी): उच्च रक्तचाप और मधुमेह की जांच के लिए लगभग 5,51,000 लोगों की जांच की गई है, जिनमें से 31,000 लोगों में उच्च रक्तचाप और 24,000 लोगों में मधुमेह के लक्षण होने के संदेह हैं, और 48,500 से अधिक लोगों को उच्च सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं में भेजा गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button